उत्तराखंड की दो मम्मियां, तीन साल पहले शुरू किया स्टार्टअप, आज टर्नओवर दो करोड़

216
Share Now

सपनों की कोई उम्र नहीं होती है। महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने एक बार कहा था, उन्हें अपना सपना पूरा करने के लिए 22 साल का इंतजार करना पड़ा। विश्वकप जीतने के लिए उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया था और खिताब को हासिल करने में 22 साल लगे। इंसान को उम्मीद नहीं छोड़नी चाहिए और कामयाबी हासिल करने की कोई उम्र नहीं होती है। परिश्रम का फल जरूर मिलता है किसी को जल्दी तो किसी देरी में… आज हम आपकों उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की दो महिलाओं की कहानी बताने जा रहे हैं। निशा गुप्ता और गुड्डी थपलियाल ने तीन साल पहले स्टार्टअप शुरू किया था और उनके परिश्रम की बदौलत कंपनी का टर्नओवर 2 करोड़ का हो गया है।

निशा गुप्ता और गुड्डी थपलियाल नाम की दो मम्मियों के बारे में हर कोई बात कर रहा है। दोनों ने शिखर तक पहुंचने के लिए अपने बच्चों की मदद भी ली। निशा गुप्ता एक ग्रेजुएट हैं और एक उद्यमी परिवार से आती हैं। उन्होंने अपने घर की दुकान पर घरेलू सामान और कुछ उपहार बेचकर व्यापार के गुर सीखे थे। दूसरी ओर गुड्डी थपलियाल ने केवल 5वीं कक्षा तक की पढ़ाई की है। उनके पास व्यापार करने का कोई अनुभव नहीं था।

निशा गुप्ता के बच्चों ने उन्हें ऑनलाइन काम शुरू करने का आइडिया दिया था जो आईटी कंपनी में काम करते हैं। निशा ने आइडिया गुड्डी के साथ साझा किया तो उन्होंने साथ काम करने के लिए हामी भर दी। कुछ वक्त दोनों ने व्यापार की नींव तैयार की और साल 2017 में Geek Monkey नाम का एक ऑनलाइन गिफ्टिंग प्लेटफार्म को लांच किया। बाजार में पहले इस तरह के प्लाटफॉर्म मौजूद थे और यह उनके लिए चुनौती था।

उन्होंने बाजार में चल रहे काम से खुद को अलग किया। इसके लिए उन्होंने तरह-तरह के हस्तशिल्प कलाकारों को जोड़ा। अपनी वेबसाइट पर खास तरह के गिफ्ट्स को ही जगह दी। उन्होंने सभी वर्गों के लोगों को देखते हुए अपने व्यापार को आगे बढ़ाया, इसलिए उनकी वेबसाइट पर 99 रुपए से लेकर 13,000 रुपए तक के आइटम मौजूद हैं। दोनों अपनी सफलता का श्रेय ग्राहकों के साथ व्यक्तिगत बातचीत को देती हैं।


Share Now