उत्तराखंड में अगर कोई बिज़नेस करने की सोच रहे हैं तो ऐसे करें अपने स्टार्ट-अप की शुरूआत

33
Share Now

आज देश नई सोच के साथ जवान हो रहा है। नौकरी करने वाला यूथ भी अपना काम शुरु करने का विचार मन में रखता है। दिक्कत रोजगार की भी है और कॉम्पटीशन की भी। लिहाज़ा लोग अपने काम शुरू कर उसमें कॉम्पटीशन के लिए तैयार हैं। ऐसे में युवावर्ग खुद के बिजनेस यानी स्वरोजगार की ओर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं। अपना काम शुरु करने के लिए कुछ पहलू हैं जिन पर विचार, शोध, तैयारी, प्लानिंग करना बेहद ज़रूरी है। अगर आप भी स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं , तो आपके लिए ये लेख काफी काम का साबित हो सकता है।

आइडिया जो बदल दे किस्मत

किसी भी स्टार्टअप को शुरू करने के लिए एक अच्छे आइडिया की जरूरत होती है या यूं कहें कि एक ऐसे कॉन्सेप्ट की जो नया हो, जो किसी प्रॉब्लम का सॉल्यूशन हो। यानी अगर आपके पास कुछ इनोवेटिव आईडिया है जिसके मार्केट में आने के बाद धूम मच सकती है तो आप अपने स्टार्ट-अप की तैयारी कर लीजिए। भारत में आज का युवा नई सोच के साथ जवान हो रहा है। उसके दिमाग में कई आईडिया और कॉन्सेप्ट तैर रहे होते हैं। अगर आपका वही आईडिया क्लिक कर गया तो यकीन मानिए किस्मत बदलते देर नहीं लगेगी।

बिजनेस का बनाएं फूलप्रूफ प्लान

बिना प्लानिंग के कुछ भी नही होता, बिजनेस तो बिल्कुल भी नहीं। अगर आपकी प्लानिंग सही दिशा में है तो उसके रिजल्ट मिलना बेहद जल्द दिखना शुरू भी हो जाते हैं। यानी अगर आपके पास कोई फॉर्मूला है तो उस पर शोध कीजिए, उसकी प्लानिंग पर खासा ज़ोर दीजिए। अपने आईडिया को फाइनल करने के बाद उसके नोट्स बनाना शुरू कीजिए और उससे संबधित जितने भी पहलू हैं उन पर विचार करें और उसके फायदे और नुकसान दोनों के बारे में जरूर सोचें। सही दिशा में प्लानिंग का होना ज़रूरी है अगर ऐसा नहीं होता है यही आईडिया आपको मुसीबत में भी डाल सकता है।

मार्केट पर भी कीजिए रिसर्च

किसी भी स्टार्टअप की शुरूआत से पहले अपने आइडिए को लेकर मार्किट का हाल जानना सबसे ज्यादा जरूरी है। मार्केट अनिश्चितताओं पर चलता है। लिहाज़ा अपनी तैयारियों से पहले मार्केट पर शोध ज़रूर कर लीजिए कि आपके आइडिए को लेकर बाज़ार का रुख क्या है। क्या आपका स्टार्ट अप बाजार के हिसाब से चलने लायक है। या फिर किस आधार पर आपका आइडिया बाज़ार में बिक सकता है।

स्टार्ट-अप का नाम हो लुभावना

अगर आपकी तैयारी पूरी हो चुकी है तो अपने स्टार्ट अप का नाम चुनना भी एक बड़ी चुनौती है। कई बार होता है कि लोगो के सामने अपने स्टार्ट अप के नाम के चयन को लेकर बहुत समस्या आती है। अगर आप अपने बिजनेस के नाम को भविष्य में एक बड़ा ब्रांड बनाना चाहते हैं, तो नाम छोटा और सरल होना चाहिए। क्योंकि भविष्य में बाजार में आपका स्टार्ट अप का नाम जब गूंजेगा तो वो ऐसा होना चाहिए तो लोगों की जुबान पर जल्दी चढ़े।

लीगल लायबलिटीज़ हों पूरी

बिजनेस को हर हिसाब से कानूनी दायित्व से परिपूर्ण होना चाहिए। सबसे पहले अपने बिजनेस को रजिस्टर करवाना ज़रूरी है। क्योंकि अगर आपको अपने बिजनेस को आगे बढ़ाना है और एक सक्सेसफुल बिजनेसमैन बनना है तो आपको सारे लीगल काम करने होंगे इसके लिए आप किसी लीगल एडवाइजर से विचार विमर्श कर सकते हैं।

भरोसेमंद बिज़नेस पार्टनर का होना भी ज़रूरी

बिजनेस में एक भरोसेमंद पार्टनर का होना जरूरी है। अकेले आप कभी भी मुसीबत में फंस सकते हैं लिहाजा एक साथी ऐसा होना ज़रूरी है जो आपके हर फैसले में साथ दे। इसलिए स्टार्टअप से पहले सह-संस्थापक खोजें. ताकि आपको बिजनेस में मदद मिलती रहे। क्योंकि एक अच्छा पार्टनर आपके व्यवसाय के साथ साथ उसे बढ़ाने का रास्ता भी सुझा सकता है।

बिज़नेस मॉडल भी अहम

अपने स्टार्टअप के लिए आपके पास एक बिज़नेस मॉडल का होना बेहद जरूरी है। यानी उसमें ये सारी तैयारी होगी कि आपका बिजनेस कैसे काम करेगा। आप लोगों को क्या क्या सर्विस देने वाले हैं और किस तरह आपका बिजनेस सीढी-दर-सीढ़ी आगे कैसे बढ़ेगा। और इसी आधार पर आपका बिजनेस का फायदा या नुकसान तय होगा।


Share Now