उत्तराखंड में दंपत्ति ने शुरू किया BHARAT.LIVE, आज विदेशी कंपनियों को दे रहा है टक्कर

27
Share Now

देहरादून: कोरोना वायरस के चलते पूरी देश को काम के लिए डिजिटल होना पड़ा। स्कूल, ऑफिस और मीटिंग सभी इंटरनेट के जरिए होने लगी। मार्च के अंतिम सप्ताह में लॉकडाउन घोषित हुआ और तब से अभी तक सभी कुछ नॉर्मल नहीं हुआ है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का नाम सुनते ही Zoom, Google Hangouts, Microsoft Team, WhatsApp, FaceTime, Google Meet और JioMeet के बारे में सोचते होंगे। क्या आपकों पता है कि इसी तरह का एक प्लेटफॉर्म है जो उत्तराखंड का है। हम बात कर रहें हैं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग प्लेटफॉर्म Bharat.live के बारे में। देहरादून का यह स्टार्टअप काफी वक्त से सुर्खियों में हैं और इंटरनेट पर मौजूद अन्य वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग वेबसाइट और एप्स को टक्कर दे रहा है।

कैसे हुआ स्टार्टअप की शुरुआत-ileads Auxiliary

यह स्टार्टअप 2018 में अंकुल सिन्हा और उनकी पत्नी अनुभा सिन्हा द्वारा की गई। दोनों पहले गुरुग्राम के एक कॉल सेंटर में जॉब करते थे। लेकिन खुद का कुछ शुरू करने का प्लान दोने के मन में आया और उन्होंने नौकरी छोड़ देहरादून वापस जाने का फैसला किया। सबसे पहले उन्होंने एक फर्म शुरू की। यह एक कमरे से शुरू हुई थी। शुरू में ही उन्हें विदेश के कुछ क्लाइंट मिले। इसके बाद इस कंपनी का रूप दिया गया, जिसका नाम था ileads Auxiliary। उनकी कंपनी डाटा सपोर्ट, डाटा एंट्री, सर्वे , टेलीसेल्स व अन्य सेवाएं ग्राहकों को देने का काम करने ली। उनके अच्छे काम ने अच्छे नटर्वक बनाए। इंडियामार्ट और बजाज फाइनेंस क्लांइट लिस्ट पर शामिल हैं।

इसी क्रम में काम करते हुए जब भारत तकनीक को बढ़ावा देने के लिए भारत डॉट लाइव की शुरुआत हुई। स्टार्टअप ने भारत सरकार द्वारा घोषित 1 करोड़ रुपये के पुरस्कार राशि पर अपनी नज़र रखी है। सरकार विदेशी कंपनियों के बजाए स्वदेशी और सुरक्षित विकल्प विकसित करने के लिए भारतीय तकनीकी कंपनियों को प्रेरित कर रही है।

भारत डॉट लाइव का इस्तेमाल काफी कम शुल्क देकर किया जा सकता है। मात्र 900 रुपए में ग्राहक 10 घंटे की मीटिंग कर सकते हैं, जिससे 20 अन्य लोग जुड़ सकते हैं। भारत डॉट लाइव के पास 5 लाख यूजर्स हैं। इस प्लेटफॉर्म पर करीब 2000 मीटिंग और 700 के करीब वीडियो कॉन्फ्रेंस रोजाना होती है। यह स्टार्टअप डॉक्टर्स, वकील, सीए, टिचर्स के लिए एक अच्छा विकल्प हैं।

कैसे काम करता है भारत डॉट लाइव

वैसे तो भारत डॉट लाइव एक फ्री एप्लीकेशन हैं। इसे बिना डाउनलोड किए ही इस्तेमाल किया जा सकता है। यह एक ब्राउजर बेस्ड एप्लीकेशन है। कंपनी ने ग्राहकों की सुरक्षा का ध्यान रखा है, इसीलिए यह फोन नंबर और ईमेल आइडी जैसी चीजें भी नहीं मांगता हैं। संस्थापक अंकुर सिन्हा ने कहा कि,” इंटरनेट पर डाटा चोरी होने का खतरा बना रहता है। सैकड़ों को इसी वजह से नई एप्लीकेशन का उपयोग करने से डरते हैं। हमारे सर्वर में ग्राहक की कोई भी जानकारी रिकॉर्ड व स्टोर नहीं होती है। सभी सर्वर भारत में ही लोकेट किए गए हैं और इससे बाहरी देशों में डाटा चोरी होने का खतरा भी नहीं हैं। ”

भारत डॉट लाइव के जरिए 50 लोग कनेक्ट हो सकते हैं, कंपनी इसे 100 करने की दिशा में काम कर रही है। Bharat.live में दो ऑप्शन ग्रहकों को मिलते हैं एक मुलाकात और दूसरा कॉन्फ्रेंस का। कंपनी की कोशिश है कि छोटे स्टार्टअप्स के लिए भारत डॉट लाइव को और सरल बनाया जाए, क्योंकि कोरोना वायरस काल में उन्हें मार्केट में दोबारा उठने में सबसे ज्यादा परेशानियों को सामना करना पड़ा रहा है।

संस्थापकों का कहना है कि भारत डॉट लाइव प्लेट फॉर्म स्लो इंटरनेट bandwidth में भी पूरी सुरक्षा के साथ काम करता है। सबसे जरूरी चीज यह आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है और इसे बेहतर क्या जाए इस पर हमारी टीम लगातार काम कर रही है।


Share Now